ब्रिटानिया में शासन

ब्रिटानिया में शासन

time:2021-10-20 23:53:32 एनालिटिक्‍स और डेटा साइंस के क्षेत्र में प्रोफेशनल्‍स की भारी मांग, 93,500 से अधिक पद खाली Views:4591

जे फुटबॉल लीग ब्रिटानिया में शासन 188bet विकी,fun88 डेयर सैमी,lovebet ३ वे हॉकी,lovebet घाना ऐप डाउनलोड,lovebet सिस्तेमा 6/8,lovebetोयिनी हकीदा,बैकारेट 7 पीस नाइफ सेट की समीक्षा,बैकरेट मास्टर फोरम,सर्वश्रेष्ठ पांच बजे छाया ट्रिमर,बोनस कैसीनो बोनस कोड,कैसीनो होटल कोच्चि,टांकेएस 3डी छवियां,क्रिकेट एक जीमेल अकाउंट,क्रिकेट वर्दी डिजाइन,एस्पोर्ट्स रैंकिंग,फ़ुटबॉल 90 मिनट,मुफ़्त 3 रील स्लॉट गेम,खुश अफ्रीकी किसान,बैकारेट कैसे दबाएं,क्या कोई औपचारिक ऑनलाइन बैकरेट मंच है?,के स्पोर्ट्स ऐप,लाइव कैसीनो असली पैसा,लॉटरी अनुमान,अंग्रेजी में लूडो उद्धरण,ऑनलाइन बैकरेट जुआ घोटाला,ऑनलाइन खेल खेल कर पैसे कमाए,ऑनलाइन स्लॉट डेलावेयर,आभासी क्रिकेट खेलें,पोकर ट्रै अमीसी ई लीगल,रूले खेल नियम,रम्मी 6 जुगाडोरेस एल कोर्टे इंग्लेस,रम्मीकल्चर प्ले स्टोर,स्लॉट 7 कैसीनो,खेल की चोट,टा फुटबॉल क्लब,टाइम्स स्क्वायर में क्रिकेट,v स्लॉट मेरे पास,कौन सा ऑनलाइन रियल मनी गेम बेहतर है?,cricket के बारे में जानकारी,ओंकार लॉटरी,क्रिकेट डाउनलोडिंग,घाटोल फुटबॉल का मैच,त्रिपुरा लाटरी सम्बाद,बरसात क्षेत्र,रमी अकाउंट मीनिंग इन हिंदी,स्टेटस घमंड, .एनालिटिक्‍स और डेटा साइंस के क्षेत्र में प्रोफेशनल्‍स की भारी मांग, 93,500 से अधिक पद खाली

डेटा साइंटिस्‍ट पर बड़ी मात्रा में डेटा को जुटाने और उनका विश्‍लेषण करने की जिम्‍मेदारी होती है.
कोलकाता : एनालिटिक्‍स और डेटा साइंस के क्षेत्र में प्रोफेशनल्‍स की मांग तेजी से बढ़ी है. क्षेत्र में अगस्त 2020 के अंत तक 93,500 से अधिक पद खाली थे. शिक्षा प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी ग्रेट लर्निंग के एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है.

कंपनी ने बताया कि कोरोना की महामारी के बाद भी विश्लेषण से संबंधित कार्यों को लेकर उम्मीदें कायम हैं. इस साल जनवरी में इस क्षेत्र के कुल वैश्विक रोजगार में भारत 7.2 फीसदी का योगदान दे रहा था. वहीं, इसका योगदान अगस्त 2020 के अंत तक बढ़कर 9.8 फीसदी पर पहुंच गया.

अध्ययन के अनुसार, भले ही इस क्षेत्र में रिक्तियां फरवरी 2020 के 1,09,000 से कम होकर मई 2020 में 82,500 पर आ गई हों. लेकिन, इसमें मांग लगातार बनी हुई है. कंपनी ने कहा कि बहुराष्ट्रीय कंपनियां, घरेलू सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और केपीओ क्षेत्र मांग की अगुवाई कर रहा है.

इसे भी पढ़ें : एक्सिस बैंक ने कर्मचारियों का वेतन 12% तक बढ़ाया

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ि‍योंं में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.

देश में जितनी भी एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब निकली हैं, उनमें से 98 फीसदी फुल टाइम हैं. टॉप पद जिनके लिए कंपनियों ने विज्ञापन निकाले, उनमें एनालिस्टिक्‍स स्‍पेशलिस्‍ट, एनालिटिक्‍स मैनेजर, स्‍टैटिस्टिकल मॉडलिंग, स्‍टैटिस्टिकल एनालिस्‍ट, मार्केटिंग रिसर्च एनालिटिक्‍स और ऑपरेशन एनालिटिक्‍स मैनेजर शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें : कोविड के बीच जानिए कहां मिल रही हैं नौकरियां

क्‍या होता है जॉब?
डेटा साइंटिस्‍ट पर बड़ी मात्रा में डेटा को जुटाने और उनका विश्‍लेषण करने की जिम्‍मेदारी होती है. कंपनियां बिजनेस को बढ़ाने के लिए डेटा पर काफी फोकस कर रही हैं. ऐसे में डेटा साइंटिस्‍ट की मांग बढ़ रही है. हालांकि, ऐसे स्‍पेशलिस्‍ट की अभी बहुत कमी है. इस तरह आने वाले वर्षों में भी इन नौकरियों की मांग बढ़ने के आसार हैं.

क्‍या है न्‍यूनतम योग्‍यता?
आईटी, कम्‍प्‍यूटर साइंस, मैथ्‍स, स्‍टैटिस्टिक्‍स, फिजिक्‍स, इंजीनियरिंग में बैचलर्स डिग्री

औसत सालाना पैकेज कितना होता है?
एंट्री लेवल में यह करीब 5-6 लाख रुपये होता है.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

डेटा साइंसएनालिट‍िक्‍सपद खालीप्रोफेशनल्‍सग्रेट लर्निंगनौकरी

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read

इसके साथ ही देश के इस सबसे बड़े बैंक ने कहा कि वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्‍कीम (वीआरएस) लागत में कटौती करने के लिए नहीं है.फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है.टाटा ने लॉन्च की नई सफारी, जानिए इसमें क्या है खास

कई ग्राहक मोरेटोरियम और उससे पड़ने वाले असर को नहीं समझते हैं. इसे देखते हुए कलेक्‍शन में बाधा आई है.इसके साथ ही देश के इस सबसे बड़े बैंक ने कहा कि वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्‍कीम (वीआरएस) लागत में कटौती करने के लिए नहीं है.कार खरीदने जा रहे हैं? 7 लाख रुपये तक के बजट में ये हैं शानदार ऑप्‍शन

कर्मचारियों की छंटनी की खबर ऐसे समय आई जब एक महीने पहले ही हरदयाल प्रसाद ने कंपनी में चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव का पद संभाला है. उन्‍होंने अंतरिम प्रमुख नीरज व्‍यास की जगह ली है.महिंद्रा एंड महिंद्रा ने शुक्रवार को संकेत दिए कि कमोडिटी के कीमतों में आई तेजी के चलते आने वाले कुछ महीनों में वह अपने वाहनों की कीमत बढ़ा सकती है.कारें होंगी महंगी, जानिए कितनी बढ़ेंगी कीमतें

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
कैसीनो एक्स украина

कर्मचारियों की छंटनी की खबर ऐसे समय आई जब एक महीने पहले ही हरदयाल प्रसाद ने कंपनी में चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव का पद संभाला है. उन्‍होंने अंतरिम प्रमुख नीरज व्‍यास की जगह ली है.

188bet निर्यात

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.

बैकारेट word

टाटा मोटर्स ने सोमवार को भारत में अपनी नई टाटा सफारी लॉन्च कर दी है. कंपनी ने इसकी शुरुआती कीमत 14.69 लाख रुपये रखी है. इसके टॉप वैरिएंट की कीमत 21.25 लाख रुपये तक जाती है.

क्रिकेट रिज विंडहैम एनएच

क्‍या आप 2021 में कार खरीदने की योजना बना रहे हैं? अगर हां तो कारदेखो डॉट कॉम के साथ हम यहां आपको कुछ शानदार विकल्‍पों के बारे में बता रहे हैं. कार के ये मॉडल इस साल लॉन्‍च हो सकते हैं या हो गए हैं. हमने यहां 15 लाख से 40 लाख रुपये की कैटेगरी में सबसे अच्‍छी कारों को चुना है.

मिस्टेक xxi

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने शुक्रवार को संकेत दिए कि कमोडिटी के कीमतों में आई तेजी के चलते आने वाले कुछ महीनों में वह अपने वाहनों की कीमत बढ़ा सकती है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी