बैकारेट कियोशी समीक्षा

बैकारेट कियोशी समीक्षा

time:2021-10-21 00:24:50 सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल Views:4591

लाइव डीलर ब्लैकजैक पीए बैकारेट कियोशी समीक्षा 188bet ईमेल पता,casumo लंबित निकासी,lovebet 007,lovebet ई गिरी,lovebet काम पर भत्तों,lovebet2,एयू स्पोर्ट्स लाइव स्ट्रीमिंग,बैकरेट हेजिंग एल्गोरिथम,बैकारेट याकूब किवामी,सट्टेबाजी साइटों ब्रिटेन,कैसीनो दिन कैसीनो कोई जमा बोनस नहीं,कैसीनो ज़ेल देख रहा हूँ,कॉमोन ऐप लॉगिन,क्रिकेट ऑनलाइन भुगतान,निर्यात दिवस,फेलोवबेट 40,फ़ुटबॉल एकल गेम स्कोर भविष्यवाणी,जीएचडी स्पोर्ट्स,Baccarat में कोड कैसे अर्जित करें और कैसे धोएं?,आईपीएल वीडियो लाइव,जेएन स्पोर्ट्स फेसबुक,लाइव कैसीनो कार्यक्रम,लॉटरी 9 6 2021,लूडो डाउनलोड करना है,एनजे लॉटरी लाइव,ऑनलाइन जुआ मनोरंजन 1 युआन दांव,ऑनलाइन पोकर रणनीति,परिमच भविष्यवाणी,पोकर mp40 विशेषताएँ,प्रतिष्ठित बैकारेट मंच,नियम स्टील,रम्मीकल्चर ऐप डाउनलोड,स्लॉट मशीन रहस्य,खेल सट्टेबाजी रणनीति सिद्धांत क्षेत्र,स्पोर्ट्सबुक टेनेसी,टेक्सास होल्डम टाई ब्रेकर,आप कैसीनो मुक्त चिप्स,सर्वश्रेष्ठ प्रतिष्ठा के साथ बैकारेट कहां खेलें,जेड क्रिकेट चमगादड़,ऑनलाइन जुआ jui,क्रिकेट score,गोवा धारा,तीन पत्ती गेम,बकरा नदी,बैकरेट गेम डिक्रिप्शन,शर्तों, .सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

क्रिप्‍टोकॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
हाल के कुछ समय में युवाओं की क्रिप्‍टोकरेंसी में दिलचस्‍पी बढ़ी है. इसे देखते हुए नए युग की टेक्‍नोलॉजी कंपनियां ऐसे कर्मचारियों को उनकी सैलरी का कुछ हिस्‍सा, बोनस या अन्‍य इंसेंटिव क्रिप्‍टोकरेंसी में दे रही हैं. कंपनियों के लिए यह पेमेंट का आसान और तेज तरीका है. वहीं, क्रिप्‍टोकरेंसी के बढ़ते मूल्‍य कर्मचारियों को लुभा रहे हैं.

कंपनियों ने इसके लिए दो तरीके अपनाएं हैं. पहला, खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराना और कानूनी या टैक्‍स संबंधी अड़चनों से कर्मचारियों को बचाने के लिए क्रिप्‍टोकरेंसी में उन्‍हें पेमेंट करना है. दूसरा, पेमेंट का रिकॉर्ड रुपये में ट्रांजैक्‍शन के तौर पर अपने बहीखातों में दर्ज करना है.

इसे भी पढ़ें : फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

यह कैसे काम करता है?
- क्रिप्‍टो कॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
- कंपनियों ने यह भी सुनिश्चित किया है कि रुपया क्रिप्‍टो कॉइन में कन्‍वर्ट हो सके और रुपये ट्रांजैक्‍शन के तौर पर पेमेंट रिकॉर्ड हों.
- ऐसी ज्‍यादातर कंपनियां टीथर (यूएसडीजी) का इस्‍तेमाल करती हैं. ये ज्‍यादा स्थिर क्रिप्‍टोकरेंसी हैं. इसका कन्‍वर्जन 1 डॉलर से सीधे 1 यूएसडीटी में हो जाता है.
- अन्‍य इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन में पेमेंट करती हैं.

देश में स्थिति नहीं है साफ
देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं. चेन एसेट्स कैपिटल नाम के क्रिप्‍टो हेज फंड के प्रमुख उपिंदर प्रीत सिंह ने कहा कि भारत में क्रिप्‍टोकरेंसी की मान्‍यता को लेकर बहुत से नियम हैं. इनमें स्‍पष्‍टता का भी अभाव है.

पटना में रहने वाले कंसल्‍टेंट सुजीत कुमार ने कहा, ''क्रिप्टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये ऑल्‍टकॉइन को भुनाने के बाद मैंने इस रकम को टैक्‍स रिटर्न में कंसल्‍टेंट फीस के तौर पर इनकम में दिखाया है.''

इसे भी पढ़ें : अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

कुमार को इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन जैसे ऑल्‍टकॉइन का भुगतान होता है. इसे वह भारतीय क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये भुनाते हैं. वह कहते हैं, ''मैं अमूमन अपनी जरूरत के अनुसार कॉइंस को कन्‍वर्ट करता हूं. मेरे ज्‍यादातर क्‍लाइंट क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट में हैं. लिहाजा, ट्रांजैक्‍शन आसानी और तेजी से हो जाता है. मैंने पिछले साल का अपना बोनस भी क्रिप्‍टोकरेंसी के जरिये लिया है.''

एक क्रिप्‍टोकरेंसी न्‍यूज वेबसाइट के सीईओ ने कहा, ''हम जहां क्रिप्‍टाकरेंसी में सैलरी का भुगतान करते हैं, वहां नियमों का पूरा पालन किया जाता है. कर्मचारियों को रुपये में सैलरी स्लिप दी जाती है. यह कर्मचारियों की क्रिप्‍टो में सैलरी स्लिप की आशंका को दूर सकता है.''

क्‍या है सरकार का रुख?
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को कहा कि सरकार गवर्नेंस में सुधार के लिए क्रिप्टोकरेंसी सहित नई तकनीकों पर विचार करने को तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद गवर्नेंस के विभिन्न पहलुओं में टेक्‍नोलॉजी को अपनाने के मजबूत समर्थक हैं. इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा था कि सरकार अभी भी क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय तैयार कर रही है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीप्‍लास टोकनट्रांजैक्‍शनसैलरी और पर्क्‍स का पेमेंटइथीरियम

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि संकटग्रस्त यस बैंक ने पिछले साल एसबीआई के नेतृत्व में निवेशकों के समूह द्वारा उसके प्रबंधन को संभालने के बाद उल्लेखनीय प्रगति दिखाई है और इसे स्थिर होने में दो साल और लग सकते हैं। उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘जिस स्थिति में यस बैंक था, आपको उसे स्थिर करने के लिए कम से कम तीन साल का समय देना होगा।’’ 'द कस्टोडियन ऑफ ट्रस्ट' नामक अपनीकंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) संपदा प्रौद्योगिकी (वेल्थ-टेक) कंपनी फिज्डम ने बुधवार को अपने ग्राहकों के लिए शेयर ब्रोकिंग सेवाएं शुरू करने की घोषणा की।नया उद्यम इक्विटी, डेरिवेटिव, आईपीओ (प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम), एफपीओ (अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम), पुनर्खरीद, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड, गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर, मुद्राएं और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड सहित एक व्यापक उत्पाद श्रृंखला की पेशकश करेगा।ग्राहक फिज्डम के डिजिटल मंचों - मोबाइल ऐप, वेब और टर्मिनल का इस्तेमाल कर शेयर ब्रोकिंग उत्पाद का लाभ उठा सकते हैं। कंपनी अपने निजी संपत्ति ग्राहकों के लिए कॉल-एन-ट्रेड सुविधा और एक अलग डीलिंग डेस्क भी प्रदान करेगी।कंपनी के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) सुब्रमण्यआईटी और रिटेल सेक्‍टर में मार्च में हुईंं ज्‍यादा भर्तियां : रिपोर्ट

मुंबई, 20 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के कारण अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बुधवार को रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 47 पैसे के उछाल के साथ 74.88 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ। बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशी बाजारों में डॉलर के मजबूत होने तथा घरेलू शेयर बाजार में गिरावट के कारण रुपये पर कुछ दबाव रहा। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया मजबूती का रुख लिए 75.10 रुपये पर खुला तथा कारोबार के दौरान यह 74.83 से 75.13 रुपये के दायरे में रहा और अंत में पिछले कारोबारी सत्र के बंद भावडिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.एनबीसीसी को हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान में 375 करोड़ रुपये की परियोजनाएं मिलीं

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
उत्पत्ति कैसीनो वीआईपी

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वनप्लस ने बुधवार को कहा कि उसने नवनीत नाकरा को भारत के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) और वनप्लस के भारतीय परिचालन क्षेत्र के प्रमुख के रूप में पदोन्नत किया है। एक बयान में कहा गया है कि इस नयी भूमिका के तहत नाकरा कंपनी के कारोबार परिचालन का नेतृत्व करेंगे और भारतीय क्षेत्र के लिए समग्र रणनीति बनाने की जिम्मेदारी लेंगे। नाकरा पहले भारत में कंपनी के उपाध्यक्ष, मुख्य रणनीति अधिकारी और बिक्री प्रमुख के रूप में

क्लासिक रम्मी ऑनलाइन

देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.

रम्मीकल्चर संपर्क नंबर

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) संपदा प्रौद्योगिकी (वेल्थ-टेक) कंपनी फिज्डम ने बुधवार को अपने ग्राहकों के लिए शेयर ब्रोकिंग सेवाएं शुरू करने की घोषणा की।नया उद्यम इक्विटी, डेरिवेटिव, आईपीओ (प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम), एफपीओ (अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम), पुनर्खरीद, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड, गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर, मुद्राएं और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड सहित एक व्यापक उत्पाद श्रृंखला की पेशकश करेगा।ग्राहक फिज्डम के डिजिटल मंचों - मोबाइल ऐप, वेब और टर्मिनल का इस्तेमाल कर शेयर ब्रोकिंग उत्पाद का लाभ उठा सकते हैं। कंपनी अपने निजी संपत्ति ग्राहकों के लिए कॉल-एन-ट्रेड सुविधा और एक अलग डीलिंग डेस्क भी प्रदान करेगी।कंपनी के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) सुब्रमण्य

स्टेटस युवा नेता

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.

खुश किसान जेनिफर जीन

भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.

संबंधित जानकारी
रम्मीकल्चर विज्ञापन

संयुक्त राष्ट्र, 20 अक्टूबर (एपी) संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन से निपटने, पर्यावरण को संरक्षित करने, गरीबी को समाप्त करने, आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और स्वास्थ्य देखभाल एवं शिक्षा में सुधार सहित 2030 के लिए निर्धारित विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने को व्यापार जगत के 30 शीर्ष अधिकारी निजी निवेश को बढ़ावा दे रहे हैं। दो साल पहले सतत विकास के लिए वैश्विक निवेशक गठबंधन की शुरुआत करने वाले संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित एक बैठक में कहा कि वह विकासशील देशों के लिए अधिक से अधिक निवेश

गरम जानकारी
फुटबॉल निबंध मराठी

नयी दिल्ली 20 अक्टूबर (भाषा) भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने बुधवार को 'रुपे कार्ड' के लिए टोकन प्रणाली शुरू करने की घोषणा की। एनसीपीआई ने कहा कि एनपीसीआई ‘टोकनीकरण’ प्रणाली (एनटीएस) दुकानदारों के पास कार्ड का ब्योरा स्टोर करने के विकल्प में रूप में होगी। इससे ग्राहकों के कार्ड की सुरक्षा बढ़ेगी और उन्हें खरीदारी का एक सहज अनुभव मिलेगा। एनपीसीआई ने कहा कि ग्राहकों की संवेदनशील जानकारी को भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के दिशानिर्देशों के अनुसार सुरक्षित लेनदेन में मदद के लिए कूट 'टोकन' के रूप में रखा जाएगा। उसने कहा कि ये टोकन ग्राहक की जानकारी का